Monthly Archives: February 2021

अपने ही समुदाय में बेधड़क घूमने से असुरक्षित महसूस करती हैं लड़कियां

“काश सुरक्षा भी किसी दुकान पे मिलती, उसको ख़रीद के रख लेती, ताकि सपनों को पूरा कर सकूँ” ये बात 14 वर्षीय नेहा ने कही है। आखिरी बार जब मैं नेहा से मिली थी तो उसने अपने ही घर के … Continue reading

Category: #FeminismInEverydayLife | Comments Off on अपने ही समुदाय में बेधड़क घूमने से असुरक्षित महसूस करती हैं लड़कियां